ग्रहस्पष्ट Grahaspasht , How make horoscope कुंडली में ग्रहस्पष्ट कैसे करें ?


                                        ग्रहस्पष्ट

ग्रहस्पष्ट Grahaspasht

        //मार्गीग्रहस्पष्ट//


नियम =>
               अग्रिमग्रहस्पष्ट में से वर्तमानग्रहस्पष्ट को घटाने पर गति-विगति प्राप्त होती है | गति-विगति में इष्टकाल का तिर्यक गुणा करके सभी गुणनफलों में 60 का भाग देने पर कला विकला ( चार लब्धियों में से बायीं ओर से दो ) प्राप्त होते है | कला विकला को वर्तमानग्रहस्पष्ट में जोड़ देते है तो  ग्रहस्पष्ट प्राप्त होता है |

उदाहरण =>
            //मार्गीमंगलस्पष्ट//
           दिनांक – 01/04/2017

   00/22/48/47        अग्रिमग्रहस्पष्ट
 - 00/22/06/36        वर्तमानग्रहस्पष्ट
   00/00/42/11        गति-विगति





           42/11            गति-विगति
         x 07/38            इष्टकाल
         1596/418
   294 /    77          
   294 / 1673/ 418
    27/     6/   58  
   321/  1679/
 5/ 21/    59                5/21/59/58              


00/22/06/36      वर्तमानग्रहस्पष्ट
     05/21 
00/22/11/57     ग्रहस्पष्ट     


ग्रहस्पष्ट Grahaspasht



          //वक्रीग्रहस्पष्ट//


नियम =>
               वर्तमानग्रहस्पष्ट में से अग्रिमग्रहस्पष्ट को घटाने पर गति-विगति प्राप्त होती है | गति-विगति में इष्टकाल का तिर्यक गुणा करके सभी गुणनफलों में 60 का भाग देने पर कला विकला ( चार लब्धियों में से बायीं ओर से दो ) प्राप्त होते है | कला विकला को वर्तमानग्रहस्पष्ट में से घटा देते है तो  ग्रहस्पष्ट प्राप्त होता है |

उदाहरण =>
            //वक्रीगुरुस्पष्ट//
           दिनांक – 01/04/2017

  05/28/54/31     वर्तमानग्रहस्पष्ट
- 05/28/46/41    अग्रिमग्रहस्पष्ट





               07/50         गति-विगति
            x 07/38         इष्टकाल
         266/1900
    49 / 350             
    49 / 616 / 1900
    10 /   31 /   40
    59 / 647 /



00/01/04/18    वर्तमानग्रहस्पष्ट
       -    0/59
00/01/03/19   ग्रहस्पष्ट

विडियो में देखने के लिए यहाँ क्लिक करें | Click here to watch the video. %CLICK%
यदि आप कुंडली बनाना चाहते है तो इन्हें अवश्य देखे-

No comments:

Post a Comment